OPD FROM HOME

Mobile user children’s suffer with dryness problem in eyes: Dr. Kaustubh Sane

आगरालीक्स….मोबाइल ज्यादा देखने पर बच्चों की आंखों में आ रही किरकिराहट, हो रही जलन. ये ड्राईनेस की ओर है इशारा…आपके बच्चे में तो नहीं हो रही ये समस्या….आगरा के प्रमुख नेत्र रोग चिकित्सक डाॅ. कौस्तुभ साने से जानिए….

आॅनलाइन पढ़ाई भी वजह
कोरोनाकाल के कारण इस समय अधिकतर बच्चों की पढ़ाई अभी भी आॅनलाइन चल रही हैं. बच्चे घंटों मोबाइल पर बैठे रहते हैं. कुंछ बच्चे ऐसे भी हैं जो कि मोबाइल पर गेम्स और अन्य कारणों से अधिक देर तक चिपके रहते हैं. इसका सबसे असर बच्चों की आंखों पर पड़ रहा है. आजकल छोटे-छोटे बच्चों की आंखों में ड्राईनेस की समस्या सामने आ रही है. मोबाइल या लैपटाॅप पर अधिक समय बिताने पर उनकी आंखों में जलन या किरकिराहटपन आ रहा है. ऐसे में ये ड्राईनेस की ओर ही संकेत देता है. अस्पतालों में इस तरह के मामले लगातार बढ़ रहे हैं.

इस संबंध में आगरा के प्रमुख नेत्र रोग विशेषज्ञ डाॅ. कौस्तुभ साने का कहना है कि कोरोना काल में सभी शिक्षण संस्थान एवं स्कूल बंद थे एवं आॅनलाइन कक्षाएं ही चल रही थीं. इनमें अधिकांश स्टूडेंट्स मोबाइल और कम्प्यूटर से पढद्याई कर रहे हैं. इसका सबसे बड़ा दुष्प्रभाव आंखों पर देखा गया जिनमें से ड्राईनेस लगभग सभी बच्चों में पाई गई. इसके कारण आंखों से पानी आना, चुभन एवं सिरदर्द की शिकायत लेकर काफी बच्चे आते हैं.

डाॅ. कौस्तुभ के अनुसार इस परेशानी से बचने के लिए थोड़े समय के बाद आंखों को आराम देना चाहिए. मोबाइल की दूरी एवं ऊंचाई उचित रखनी चाहिए एवं अगर सम्भव हो तो विशेष प्रकार का एंटी ग्लेयर चश्मे का उपयेाग करने पर आंखों में होने वाले दुष्प्रभाव से बचा जा सकता है. अच्छे नेत्र विशेषज्ञ को दिखाकर अपने नजर की जांच एवं कुछ सामान्य आईड्राॅप्स का उपयोग करने से भी आंखों को आराम मिल सकता है. कुछ खाने में ताकत की चीजें जैसे हरी सब्जी, गाजर, टमाटर एवं पौष्टिक आहार भी आंखों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है.

ये करें
अगर बच्चा लैपटाॅप या मोबाइल पर आॅनलाइन क्लास ले रहा है तो हो सकें तो पलकें ज्यादा झपकाने को कहें. इससे आंखों को आराम मिलता है

20 मिनट तक काम करने के बाद आंखों को करीब 20 सेकेंड्स तक बंद रखना चाहिए. इससे आंखों को आराम मिलेगा

अगर बच्चे की आंखों में जलन या ड्राईनेस हो रही है तो पानी की छींटें न मारे, इससे नुकसान हो सकता है.

लगातार स्क्रीन पर देखने से बचें और पलकें झपकाकर या इधर-उधर देखने या समय-समय पर कुछ पलों के लिए आंखों को बंद करें.

Add comment

Follow us

Don't be shy, get in touch. We love meeting interesting people and making new friends.